Sylvester Stallone की संघर्ष पूर्ण कहानी ( How success Sylvester Stallone )

यह कहानी सुपर स्टार हालीवुड एक्टर Sylvester Stallone की संघर्ष है । जिसने हमे दिखाया अगर प्रतिभा ,लगन , हौसला , मेहनत हो तो व्यक्ति के लिए कोई काम नामुमकिन नहीं है । Sylvester Stallone ये नाम ही अपने आपमे संघर्ष है। यू तो ये किसी परिचय का मोहताज नही क्योकी यह एक एैसा नाम है जो खुद मे ही ताज है।

Sylvester Stallone ki safalata

सदियों के नायक जिनकी सबसे बडी फैन फालोविंग ROCKEY ,RAMBO स्टार जिनके लाखो दिवानो मे से एक बालीवुड सुपर स्टार SLMAN KHAN भी है।

Sylvester Stallone को बचपन से ही स्टार एक्टर बनने का शौक व जूनून था। उन्होने यह बात बिल्कुल अपने जेहन मे बैठा लिया था कि बनूगा तो सिर्फ और सिर्फ एक्टर ही बनूगा शायद यह उनकी अपनी जींद ही थी। और तो और एक्टर बनने का जूनून इस कदर हावी था कि उन्होने बीच मे ही ग्रेजूएसन की पढाई को अलविदा कह दिया और न्यूयार्क चले गए। वहा पर पहुचकर के वो अपना आडिसन देने लगे हर मुमकिन प्रयास किया। किन्तू सफलता कही भी हासिल नही हुई पर जैसे वो कुछ जूनूनीयत और जज्बे के बल पर दुनीया को झुकाने आए थें।

हर बार रिजेक्ट होने पर भी एक नई उम्मीद उनकी आखो मे एक्टिंग के सपने सजोती थी। पर अफसोस हर बार वो असफल हो जाते शायद भगवान भी उनका इम्तहान ले रहे हो , की दिखा तुझ मे कितना दम है। अपनी असफलता के बाद उन्होने पटकथाए लिखनी शुरू कर दी। काफी हद तक प्रयासो के बाद उनको एक मौका भी मिला “THE LORD OF FLATBUS ” मे उन्हे एक ब्रेक मिला पर उससे उन्हे कुछ भी फायदा नही हुआ।

Sylvester Stallone एक के बाद एक आंडीशन देते पर हर बार वही नाकामी हाथ लगती थी। हर बार उन्हे रिजेक्ट ही कर देते थे। और उनकी पटकथा पर भी कोई नही ध्यान देता था। हालात तो एैसे आन पडे कि उनके पास खुद के परिवार चलाने को भी पैसे नही थे, यहा तक की उनको अपनी बीवी के जेवरात तक को बेचना पडा। एैसी परिस्थिती मे हम जैसा आम आदमी होता तो शायद वो ये ख्वाब देखना छोड देता और पेट भरने की खातिर कुछ भी कर लेता । लेकिन इस हठी की हठ भी कमाल की थी जिएगे तो एक्टर ही बन कर वरना जीवन किसी काम का नही । उन्होने ठान ही लिया था कि अपना मुकाम हालीवुड है ।

अब तो हालात एैसे बन गए थे कि जैसे तैसे ही पेट भरना नसीब होता (यहा नसीब हमारे लिये है उनके लिए तो नसीब नही जो मिलता मेहनत व जज्बा से ही मिलता है ) दिन बडी ही कठिनाई पूर्वक गुजरने लगे हर पल नये -नये मुश्किल हालात पैदा होते।

एक बार sylvester टेलीविजन पर बाक्सिंग का एक मैच देख रहे थें। वो मैच था (weppenr vs mohammd ali ) का वहा पर फाईट सिन चल रहा था। उस वक्त mohammd ali की जीत लगभग तय ही थी। weppenr की हार लगभग तय ही थी। फिर भी weppenr था कि हार नही मान कर संघर्ष किए जा रहा था।

बार बार घूसो को खा कर weppner डटे हुए था। यह देख sylvester को बडा आनन्द आ रहा था और तभी stallone का नजरीया भी बदल गया। और उन्हे कुछ लिखने का विचार आया | इस एक मैच सो ना जाने क्या सलाह sylvester के दिमाग मे घर कर गयी। उसी क्षण उन्होने कागज – कलम ले कर एक कहानी लिखने की सोची और करीब 24 घण्टें तक लिखते रहे। आप सोच रहे होगे की वह क्या लिखने लगे तो बता दू उसी ब्लाक – बस्टर फिलेम ROCKEY की कहनी की स्क्रिप्ट लिख डाली।

स्क्रिप्ट लिख कर उन्हे पक्का यकिन था कि कोई ना कोई निर्माता उन्हे अवश्य ही ले लेगा । और वह वो स्क्रिप्ट लेकर लगे निर्मातओ के बगलो के चक्कर लगाने। कई दिनो प्रयास दर प्रयास करने के बाद भी कोई निर्माता उनके स्क्रिप्ट को लेना नही चाहता था। शायद वो पल sylvestar के लिए बेहद बुरा पल था ।

वो पूरी तरह से टूट चूके थे पर हार तब भी नही मानी थी। उस समय उनके पास एक कुत्ता हुआ करता था। जिसको stallone बेहद प्यार करते थें , मात्र वही एक उनके दुखो के दिनो का सबसे बडा साथी था जिससे वो बेहद लगाव रखते थें । ये उनके जिगर का टुकड़ा था ।

एैसी परिस्थिती मे अब उनके पास इतने भी पैसे नही थे कि एक समय भी भोजन किया जा सके। वो नही चाहते थें कि उनका प्यारा दोस्त ( कुत्ता ) उनकी वजह से भूखा रहे। यह सब सोच कर और भूख से परेशान हो कर उन्होने मजबूर में उस कुत्ते को बेचने का फैसला किया।

वे  एक शराब कि दुकान के पास जा कर हर किसी से कुत्ते को खरिदने का आग्रह करने लगे। उनके बहुत आग्रह के बाद एक शराबी ने उनके कुत्ते को 25$ मे खरीद लिया शायद इससे खराब पल ही किसी ने देखा हो। जिससे वो सपने मे भी बिछुडना नही चाहते आज उसी को अपने हाथो बेच दिया।

वो रात भर खूब रोए और अगले ही पल अपनी स्क्रिप्ट ले कर फिर से निकल पडे शायद उन्होने खुदा या खुद से बगावत ही कर रखी थी। आखिरकार एक प्रड्युसर को वो कहानी पसंद आ ही गयी उसने उस screeps को खरीदने के लिए सिलवेस्टर को उसने 1लाख ₹ का आफर भी दिया।

कोई और इस कठिनाई मे होता तो उसके लिए 1लाख ₹ बहुत बडी रकम होती और वो झट से हाँ कर देता परन्तू सिलवेस्टर ने बिना पल गवाए इस आफर को यह कह कर ठुकरा दिया । “मेरी एक शर्त है की मै ही राँकी मूवी का मेन हिरो रहूगा “

पर producer को यह बात कुछ जँची नही उसने यह कह कर उन्हे रिजेक्ट कर दिया कि वो शक्ल से ही लेखक नजर आते है। “एक्टिग तुम्हारे बस की बात नही है ” इस लिए तुम्हे यह रोल नही मिल सकता।

करीब दो हफ्तो के बाद उसी निर्माता ने सिलवेस्टर को फोन किया और ज्यादा पैसे का आफर करने लगा पर हर बार सिलवेस्टर अपनी जीद पर अडे रहे। अब तो रकम भी करीब 4लाख बढा दिया पर वो अपनी ही जीद पर थें।

अन्त मे producter को झुकना ही पडा और वह मान गया और राँकी का रोल देने के लिए उसने सिर्फ 25000 $ देने की ही शर्त रखी। stallone मान गए। शायद उन्ही के बारे मे यह पक्तिया किसी ने लिखी होगी –

 लहरो से डर कर कश्ती कभी पार नही होती, हिम्मत करने वालो कि कभी हार नही होती |

फिल्म के कहानी पर काम शुरू भी हो गया और सबसे पहली तनख्वाह पर stallone ने वही जाकर (शराब कि दुकान के पास ) ,अपने प्यारे दोस्त (पालतू कुत्ता ) को खोजना शुरू कर दिया । करीब 3 दिन के बाद उन्हे वह आदमी मिला जिसको अपना कुत्ता बेचा था।

वह अपने कुत्ते को वापस अपने पास खरिदने के लिए उस व्यक्ति से कहने लगे परन्तू वह देने से मना करने लगा। उन्होने उस आदमी को 25$ के बदले मे 15000 $ देने लगे पर वह नही ले रहा था फिर उन्हेने उस आदमी को अपनी आपबीती बताई और राँकी फिल्म मे एक रोल भी देने का वादा किया। तब कही जा कर के वह माना और कुत्ते को 15000 $ और राँकी मे एक रोल के बदले मे उन्हे वापस किया।

अपने पालतू दोस्त को पा कर स्टैलोन खूब रोए पर ये खुशी के आशु थें। Rockey मूवी मे एक जगह यह कुत्ता और आदमी दोनो मजर आते हैं। जब राँकी फिल्म आई तो कमाल ही हो गया उस साल की सबसे बडी हिट्स फिल्म हुई , और 1978 मे इस फिल्म को बेस्ट पिक्चर के तहत आकादमी आवार्ड भी मिला।

उसके बाद तो एक Hollywood super star के रूप मे sylvester stallone का सिक्का खूब चलने लगा। वो नायक बन जो बैठे। ROCKEY , RAMBO कि आल सिरीज एक से एक ढासू फिल्म फिल्म हिट का जरिया ही बन बैठे।

उनके इस लगन जज्बे को आज लोग सलाम करते हैं, यही होती है सोच शायद ये उनकी बडी सोच का ही करिश्मा था।

” झुकने को तो ये आसमाँ भी झुक सकता है बस एक जिद्दी उसे झुकाने वाला चाहिए |”

सिख

Sylvester Stallone के इस कहानी से हम सभी लोगो को सिख मिलती है की परिस्थितियां चाहे जैसी हो हमको अपने लक्ष्य से भटकना नहीं चाहिए, संघर्ष ही सफलता की कुंजी है |

मुझे पूरा विश्वाश है की Sylvester Stallone ये कहानी आपको अच्छी लगी होगी | अगर इस कहानी से सम्बंधित किसी तरह का कोई सुझाव या जनकारी हो तो कमेंट करके अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं |

अगर आपके पास भी कोई इस तरह की सच्ची कहानी है जिसे पूरी दुनिया को दिखाना चाहते है तो मुझे कमेंट करके बताएं |

लेखक – अमित यादव 

Sharing is caring!

(Visited 5 times, 1 visits today)

I am professional blogger from up in India. I shared with you all blog, blogging , Computer , Internet , seo related all information. Computer related all Tips and Tricks. I am Part-time blogger . How to make money online without investment and how to do online business in hindi language.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *